google.com, pub-2082020619759954, DIRECT, f08c47fec0942fa0

Rooftop Solar Power Generation Scheme 2021 राजस्थान रूफटॉप सोलर पावर जनरेशन स्कीम 2021

Rooftop Solar Power Generation Scheme 2021

Rooftop Solar Power Generation Scheme 2021 :राजस्थान राज्य में सौर ऊर्जा के महत्वपूर्ण स्त्रोत को देखते हुए राजस्थान सरकार ने सोलर ऊर्जा से बिजली का उत्पादन करने के लिए एक योजना रूफटॉप सोलर पावर जनरेशन स्कीम लांच की है। इस योजना के अंतर्गत राज्य में कुल 45 मेगावाट क्षमता सौर सयंत्र छत पर लगाने की योजना शुरू की है। इसका अनुदान केंद्र सरकार द्वारा देय है। योजना में सोलर सयंत्र लगाने के लिए किसी भी प्रकार के सरकारी भवन, संस्थाए, निजी वाणिज्यिक और औधोगिक क्षेत्र के भवन इस योजना में शामिल नहीं होंगे। दोस्तों हम आपको इस योजना के बारे में विस्तार से जानकारी देने जा रहे है यदि आप भी इस योजना को अपनाने के इच्छुक है तो आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़े।

Rooftop Solar Power Generation Scheme 2021

योजना के लाभ

  • बिजली के बिल में कमी लाना।
  • ग्रिड में जाने वाली अतिरिक्त ऊर्जा का डिस्कॉम द्वारा बिल में समायोजन या भुगतान।
  • भवनों की छत पर खाली जगह का सदुपयोग।
  • सौर ऊर्जा उत्पादन में जन सहभागिता को बढ़ावा देना।
  • प्रदूषण में कमी लाना।
  • बिजली वोल्टेज में सुधार।

योजना की विशेषता

  1. उपभोक्ता द्वारा स्वीकृत विधुत-भार का अधिकतम 80% क्षमता का रूफटॉप सौर ऊर्जा सयंत्र डिस्कॉम द्वारा NOC जारी करने के उपरांत स्थापित किया जा सकता है।
  2. रूफटॉप सयंत्र द्वारा उत्पादित ऊर्जा में से ग्रिड में प्रवाहित ऊर्जा का समायोजन उपभोक्ता के बिजली बिल में किया जाता है।
  3. ग्रिड में प्रवाहित नेट अतिरिक्त ऊर्जा का भगतन यदि यह ऊर्जा 100 यूनिट से अधिक है तो वितरण निगम द्वारा 3.14 पैसे प्रति यूनिट की दर से केवल घेरलू क्षेत्र के उपभोक्ताओं को किया जाता है।
  4. नेट अतिरिक्त ऊर्जा 100 यूनिट से कम होने पर यह ऊर्जा आगामी विद्युत बिल में समायोजित की जाती है।
पात्र लाभार्थीसयंत्र क्षमता देय अनुदानदेय अनुदान
घेरलू (सभी प्रकार के आवासीय भवन)1. 1 किलोवाट से 3 किलोवाट तक

2. 3 किलोवाट से अधिक और 10 किलोवाट तक
1. लागत का 40% अनुदान

2. 3 किलोवाट तक लागत का 40% और 3 किलोवाट से 10 किलोवाट तक लागत का 20%
ग्रुप हाउसिंग सोसाइटी/ रेजिडेंशियल वेलफेयर सोसाइटी में सामान्य सुविधा500 किलोवाट तक (10 किलोवाट प्रति आवास)लागत का 20%

राजस्थान में रूफ टॉप क्षमता का आवंटन

डिस्कॉमकुल क्षमतासबंधित जिले और कार्यक्षेत्र
जयपुर डिस्कॉम25 MWजयपुर, दौसा, अलवर, भरतपुर, धौलपुर, कोटा, बूंदी, बारां, झालावाड़, सवाई माधोपुर, टोंक और करौली
अजमेर डिस्कॉम5 MWअजमेर, भीलवाड़ा, नागौर, सीकर, झुंझुनू, उदयपुर, बांसवाड़ा, चितोड़गढ़, राजसमंद, डूंगरपुर और प्रतापगढ़
जोधपुर डिस्कॉम15 MWजोधपुर, पाली, सिरोही, बीकानेर, हनुमानगढ़, श्री गंगानगर, बाड़मेर, जालौर, जैसलमेर और चूरू

रूफ टॉप सौर सयंत्र नेट मीटरिंग

रू फ टॉ प सयंत्र से पहले सोलर पैनल से सौर ऊर्जा का उत्पादन होगा इसके बाद ऊर्जा को DC से AC में ग्रिड टाइड इन्वर्टर से बदला जायेगा। इसके बाद सोलर मीटर लगेगा। इसके बाद सप्लाई बोर्ड से बिजली घरेलू कार्य के लिए काम में लिए जाने के बाद बची हुई बिजली नेट मीटर से डिस्कॉम से में भेज दी जाएगी। और महीने में 100 यूनिट से अधिक होने पर मालिक को पैसो का भुगतान किया जायेगा।

रूफटॉप सयंत्र के मुख्य बिंदु

1 किलोवाट सतमा के सिस्टम छाया रहित क्षेत्र100 वर्ग फ़ीट
प्रतिदिन उत्पादन4 यूनिट प्रतिदिन
सयंत्र की औसत आयुलागत की वसूली
लागत की वसूली25 वर्ष

Apply Online-https://solarrooftop.gov.in/interest_request

Official Website-https://energy.rajasthan.gov.in/

Official Notification-https://energy.rajasthan.gov.in/content/dam/raj/energy/rrecl/pdf/Home%20Page/TENDERSPVRooftop45MW.pdf

LATEST POSTS

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *