शॉर्ट टर्म फॉरेन लैंग्वेज कोर्स कर के पाएं नौकरी, पढ़ें कोर्स के बारे में

Career Guidance

ये कोर्स आपको फील्ड जॉब (Field Jobs) के साथ-साथ घर बैठे भी काम (Work from home) करने का अवसर देते हैं. जानिए 12वीं के बाद शॉर्ट टर्म फॉरेन लैंग्वेज कोर्सेज में क्या हैं करियर की संभावनाएं (Opportunities).

Career Guidance – आजकल 12वीं के बाद शॉर्ट टर्म कोर्सेज (Short term Courses) के आधार पर करियर (Career) की शुरूआत करना आम बात हो गई है. फिर भी बहुत कम स्टूडेंट्स जानते होंगे कि वे 12वीं के बाद विदेशी भाषाओं यानि फॉरेन लैंग्वेज (Foreign Language) में भी शॉर्ट टर्म कोर्स कर सकते हैं. साथ ही इन कोर्सेज के आधार पर वे दूसरे लोगों से काफी बेहतर अर्निंग (Earning) कर सकते हैं. ये कोर्स आपको फील्ड जॉब (Field Jobs) के साथ-साथ घर बैठे भी काम (Work from home)करने का अवसर देते हैं. चलिए जानते हैं 12वीं के बाद शॉर्ट टर्म फॉरेन लैंग्वेज कोर्सेज में क्या हैं करियर की संभावनाएं (Opportunities).

इन सब की इनफार्मेशन हिंदी में केवल आप के लिए आज ही क्लिक करे

Fast Job Search / Daily Current Affairs / Education News / Exam Answer Keys / Exam Syllabus & Pattern / Exam Preparation Tips / Education And GK PDF Notes Free Download / Latest Private Sector Jobs / admit card / Results Live

12वीं के बाद उपलब्ध हैं सर्टिफिकेट और डिप्लोमा कोर्स:

वर्तमान समय में स्टूडेंट्स 12वीं के बाद ही शॉर्ट टर्म फॉरेन लैंग्वेज कोर्सेज कर सकते हैं. इनमें सर्टिफिकेट (Certificate) कोर्स और डिप्लोमा (Diploma) कोर्स, दोनों उपलब्ध हैं. सर्टिफिकेट कोर्स 6 महीने की अवधि तक है तो डिप्लोमा कोर्स एक साल से दो साल की अवधि तक. इन कोर्सेज के लिए इंग्लिश (English) लैंग्वेज का ज्ञान होना जरूरी है. इसलिए बेहतर है कि आप करियर की शुरुआत में ही फॉरेन लैंग्वेज सीखना शुरू कर दें. तभी आप इस पर पकड़ बना सकेंगे.

यह भी पढ़ें – Career News | फोटो लेना पसंद है तो फोटोग्राफी में बनाएं करियर, 12वीं के बाद करें ये कोर्स

ये फॉरेन लैंग्वेज हैं फायदेमंद:

जब बात फॉरेन लैंग्वेज में करियर बनाने की हो तो इस बात का ध्यान जरूर रखें कि आपकी रुचि किस विदेशी भाषा में है. आजकल स्पेनिश, जैपनीज़, जर्मन, फ्रेंच, रशियन, इटेलियन, कोरियन, चाइनीस और अरबी भाषाओं के कोर्स करना काफी फायदेमंद साबित होता है. इन कोर्सेस के बाद आपकी डिमांड भारत के साथ-साथ विदेश में भी रहती है.

ये हैं संभावनाएं:

शॉर्ट टर्म फॉरेन लैंग्वेज कोर्स के बाद स्टेट और सेंट्रल स्तर पर सरकारी भर्तियाँ निकलती रहती हैं. आप इन जॉब्स के लिए आवेदन कर सकते हैं. इसके अलावा आप विदेशी पर्यटकों के लिए गाइड बन सकते हैं. इसके अलावा बहुत से देश आप अपने ट्रांसलेशन और डॉक्यूमेंट वर्क के लिए आउटसोर्सिंग के जरिए लोगों को हायर भी करते हैं. आप घर बैठे ये काम भी कर सकते हैं. आजकल तमाम सरकारी और प्राइवेट यूनिवर्सिटीज फॉरेन लैंग्वेज में ये कोर्स कराती हैं.

Leave a Comment

Your email address will not be published.